पिन कोड क्या होता है ? पिन कोड का क्या मतलब होता है? पिन कोड नंबर कैसे पता करें ?

अक्सर हमारे मन में एक सवाल बार बार आता है की यह पिन होता क्या है, यह 6 अंक का पिन कोड क्या होता है, इसमे ऐसा क्या होता है, जिससे कोई भी पार्सल आसानी से दूसरी पोस्ट ऑफिस के पता पर चला जाता है फिर वहा से पोस्टमैन के द्वारा उसके मालिक को दे दिया जाता है, यह प्रकिया सम्पन कैसे होती है, आज हम सब सीखने वाले है |

जैसे की मुझे अपने शहर का पिन कोड पता करना है मुझे अपने शहर का नाम ज्ञात है जहा में रहता हूँ, लेकिन मुझे पोस्ट ऑफिस का नाम ज्ञात नहीं है, अब मुझे पिनकोड और पोस्ट ऑफिस नाम पता करना है, इसके लिए में सबसे पहले राज्य का नाम चयन करना होगा, फिर उस राज्य में जितने भी जिला होंगे उनका लिस्ट आ जायेगा, अब मुझे मेरे जिला का नाम चयन करना होगा, फिर उस जिले में जितने भी तहसील/तालुक होंगे उनके नाम दिखाया जायेगा, अब मुझे मेरे तहसील/तालुक का नाम चयन करना होगा, फिर मुझे वह शहर/गाँव का नाम चयन करना होगा जिस गाँव/शहर में रहता हूँ, अगर लिस्ट में आपको अपने गाँव/शहर का नाम नहीं मिलाता है तो उसका साफ-साफ मतलब है की आपका शहर/गाँव में कोई पोस्ट ऑफिस नहीं है, इसलिए आपको यह पता करना होगा की आपका गाँव/शहर किस पोस्ट ऑफिस वाले शहर / गाँव के अन्दर आता है, क्यों की भारत में बहुत शहर/गाँव है सब जगह पोस्ट ऑफिस नहीं होता सकता है, इसलिए कुछ शहर/गाँव के लिए एक पोस्ट ऑफिस होता है, अब आपको वह पोस्ट पता करना होगा, यह पोस्ट ऑफिस वाला शहर/गाँव आपका कोई नजदीकी शहर/गाँव होगा तो अब आपको ऑनलाइन लिस्ट में आपको यह पता करना है, अगर फिर भी आपको समझ नहीं आ रहा है कोनसा नजदीकी या गाँव हो सकता है तो ऐसे में वह नाम आपके परिवार में से किसी के Identity Card or Certificate पर मिल जायेगा | यह सब कुछ चयन करने के बाद “FIND PINCODE” बटन पर क्लिक करते ही पिनकोड नंबर और पोस्ट ऑफिस नाम बता दिया जायेगा……

पिन कोड क्या होता है:-

Pin Code को हम पोस्टल कोड के नाम से भी जाना जाता है, इसकी सर्वप्रथम शुरुवात 15 अगस्त 1972 को इंडिया में किया गया था, हाल में यह कई अलग-अलग देशो में इस्तमाल किये जाते है, इसके माध्यम से किसी भी क्षेत्र के बारे में ठोस जानकारी प्राप्त करने में मददगार साबित हुआ है, पिन कोड 6 अंक का होता है, जो लगभग हर पोस्ट ऑफिस का पिन कोड अलग-अलग होता है, और पोस्ट ऑफिस हर गाँव या शहर में नहीं होता है, यह लगभग 2-5 शहर और गाँव का एक पोस्ट ऑफिस होता है, जहा से इन सभी क्षेत्र के पोस्ट ऑफिस से सम्बन्धित कार्य किये जाते है, जैसे विभिन्न प्रकार के पार्सल का आधान प्रधान होता है

पिन कोड का क्या मतलब होता है?

डाक सूचक संख्या या पिन कोड एक ऐसी प्रणाली होती है, जिसके माध्यम से एक विशिष्ट सांख्यिक पहचान प्रदान की जाती है, यह विशिष्ट जो संख्या होती है वह डाक द्वारा भेजी जाने वाली सामग्री को सही स्थान तक पहुचाने में मददगार साबित होती है, भारत में पिन कोड में 6 अंको की संख्या होती है, इन्हें भारतीय डाकविभाग द्वारा छांटा जाता है, भारत में 9 Pin code zone विभाजित गया है, पिन कोड का पहला अंक भारत(देश) के क्षेत्र को दर्शाता है, पहले दौ अंक मिलकर इस क्षेत्र में उपस्थित उपक्षेत्र या डाक वृतो में से किसी एक डाक वृत को दर्शाता है, पहले तीन अंक मिलकर जिले को दर्शाते है, जबकि अंतिम 3 अंक डाक की सप्लाई करने वाले डाकखानो को दर्शाता है,

भारत में पिन कोड का वितरण ?

भारत में पिन कोड का वितरण
क्र. सं. पिन कोड क्रमांक भारत में क्षेत्र
1 पिन कोड 1 दिल्ली, हरियाणा , पंजाब, हिमाचल प्रदेश , जम्मू और कश्मीर
2 पिन कोड 2 उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड
3 पिन कोड 3 राजस्थान, गुजरात, दमन और दीव, दादर और नगर हवेली
4 पिन कोड 4 छत्तीसगढ़, महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, गोवा
5 पिन कोड 5 आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, यनाम (पुदुचेरी का एक जिला)
6 पिन कोड 6 केरल, तमिनलाडु, पुदुचेरी (यनाम जिले के अलावा), लक्षद्वीप
7 पिन कोड 7 पश्चिम बंगाल, उड़ीसा, असम, सिक्किम, अरुणाचल प्रदेश, नागालैंड, मणिपुर, मिज़ोरम, त्रिपुरा, मेघालय, अंडमान और निकोबार दीप समूह
8 पिन कोड 8 बिहार, झारखण्ड
9 पिन कोड 9 सैन्य डाकखाना (एपीओ) और क्षेत्र डाकखाना (एफपीओ)

पिन कोड नंबर कैसे पता करें ?

पिन कोड को आप बहुत ही आसानी से पता कर सकते हो अपने क्षेत्र का इसके लिए आपको अपने क्षेत्र के नाम ज्ञात होना चाहिए, जैसे की आप कहा रहते है, वह गाँव है या शहर जो भी है उसका नाम ज्ञात होना चैये पहले, फिर उसके तहसील, तालूक, ब्लाक, का नाम, फिर जनपद/जिले का नाम ज्ञात होना चाहिए फिर आप समझो आपको अपने क्षेत्र का पिन कोड नंबर मिल गया, पिन कोड नंबर खोजने के लिए “Click here” blue button पर क्लिक करे, फिर एक न्यू वेबसाइट ओपन होगी जिसमे आपसे आपके क्षेत्र की जानकारी माँगी जाएगी. सभी जानकारी आपको अच्छे से पढ़ के देना है, उसमे पूछा जायेगा की आपके राज्य का नाम क्या है फिर जिला का नाम, फिर तहसील या तालुक  का नाम उसके बाद में आपको आप जिस शहर या गाँव में निवास कर रहे है, उसका नाम खोजना होगा लिस्ट में अगर नाम मिल जाता है तो उसको सेलेक्ट कर ले, अगर आप जहा रहते है उस जगह का नाम नहीं आता है तब आप अपने नजदीक के क्षेत्र का नाम खोजे, वह क्षेत्र का नाम आपके परिवार या आपके किसी ना किसी दस्तावेज पर उसका नाम जरुर मिलेगा, जिससे आपको पुष्टि हो जाएगी, अगर फिर भी पुष्टि नहीं होती है तब आप अपने नजदीक में कोई इसके बारे में जानकारी रखता हो उससे मदद ले सकते हो,  हर गाँव या शहर को पोस्ट ऑफिस बनाना संभव नहीं होता है, इस लिए कुछ शहर/गाँव के लिए एक पोस्ट ऑफिस खोला जाता है,